UA-155293559-1Akbar Birbal Story in Hindi ( best top 10 Akbar birbal story in hindi )

Akbar Birbal Story in Hindi ( best top 10 Akbar birbal story in hindi )

Top 10 Akbar Birbal Story in Hindi

Akbar birbal story in hindi एक बार महाराज अकबर कहते है की हम काफी खुसनसीब है क्योकि हमारे दरबार में बिरबल जैसे चालाक और होशियार मंत्री है |
बिरबल :- शुक्रिया हुजूर |


अकबर :- इतना ही नहीं हम तो ये भी मानते है की वो हम सब से ज्यादा होशियार और चालाक है |
सुखदेव सिंह :- आप सच कह रहे है हुजूर बिरबल हम में से सबसे ज्यादा होशियार और चालाक है |
अकबर :- सुखदेव सिंह जी क्या आपको लगता है, की हम गलत कह रहे है |
सुखदेव सिंह :- नहीं हुजूर |


अकबर :- जब हमने कहा की बिरबल हम में से सबसे चालाक और होशियार है तब हमने देखा की आप खामोश थे, कहिये आप हमसे सहमत नहीं है क्या ?
सुखदेव सिंह :- हुजूर वो बेशक सबसे ज्यादा चालक और होशियार हो सकते है, लेकिन में ये अब तक नहीं मानता, इसिलए में कुछ नहीं कहूंगा |

Akbar Birbal Story in Hindi


अकबर :- क्या मतलब है की आपका ? आप नहीं जानते क्या ? आपने उनकी होशियारी के कारनामे नहीं सुने है क्या ? ये सुबूत काफी नहीं हे आपके लिए |
सुखदेव सिंह :- हुजूर में – में, मेरा वो मतलब नहीं था |


अकबर :- खैर हमने बिरबल की चतुराई और होशियारी का कई बार इम्तेहान लिया है, और वो हमेशा ही कामयाब हो गए है, अगर आप को फिर भी यकीन नहीं हे तो आप उनके सामने कोई भी चुनौती रख दे, हमे पूरा यकीन है की बिरबल जरूर कामयाब होंगे | तो सुखदेव सिंह जी क्या कोई बिरबल के लिए चुनौती सोची है आपने ?


सुखदेव सिंह :- कुछ देर सोचने के बाद हुजूर – अगर बिरबल सचमुच इतने होशियार है तो मेरे दिमाग में एक चुनौती है |


अकबर :- क्या चुनौती है ?
सुखदेव सिंह :- अगर बिरबल हमारे लिए बैल का दूध ला सके तो में मान जाऊंगा की वो सचमुच सबसे चालाक और होशियार है |


अकबर :- क्या कहा बैल का दूध ? लेकिन ये कैसे हो सकता है |
सुखदेव सिंह :- हुजूर अगर बिरबल सचमुच इतने चालाक है तो फिर उनके लिए ये बात नामुमकिन नहीं और बैल का दूध लाना कोई बड़ी चुनौती नहीं है |
अकबर :- हु ! अच्छा सच तो ये है के हम भी बिरबल को ये गुत्थी सुलझाते हुए देखना चाहते है | क्या ख़याल है बिरबल ?


बिरबल :- अगर आप यही चाहते है हुजूर ! तो हमे आपकी इच्छा मंजूर है |
अकबर :- बिरबल क्या आप ये सचमुच करना चाहते है ?
बिरबल :- हुजूर अगर आपकी यही इच्छा हे तो आपकी इच्छा पूरी तो करनी होगी ना |

Akbar Birbal Story in Hindi अकबर :- बहुत खूब ! हम भी आपको ये गुत्थी सुलझाते हुए देखना चाहते है | कितना वक्त चाहिए आपको ?


बिरबल :- सिर्फ एक दिन हुजूर ये चुनौती में कल तक सुलझा दूंगा |
अकबर :- सिर्फ एक दिन आपको इतना भरोसा है | ठीक है कल दरबार में हमे आपका बेसब्री से इंतजार रहेगा

उसी रात अकबर जब सो रहे थे, तभी उसी समय अजीब सी आवाज आती है | और अकबर आवाज सुनकर सो नहीं पा रहे थे |अकबर आवाज लगता है सिपाहियों – सिपाहियों |
सिपाही :- जी हुजूर |


अकबर :- ये कैसी आवाज है, ऐसे में नींद कैसे आएगी मुझे |जाओ इस आवाज को बंद करवाओ |
सिपाही :- जी हुजूर अभी बंद करवाता हूँ |
थोड़ी देर बाद फिर से आवाज आने लग जाता है और फिर से अकबर की नींद खुल जाती है |
अकबर :- सिपाहियों – हमने इस आवाज को बंद करवाने के लिए नहीं कहा था कौन है जो इस तरह की आवाज कर रहा है ? जाओ पता लगाओ और जो कोई भी है उसे हमारे सामने पेश करो, जाओ |
सिपाही फिर से जाता है |और बहार जाकर देखता है की एक छोटी से लड़की कपडे धो रही थी |


सिपाही :- हमने कहा था न की यहाँ से चले जाओ | तुम नहीं गयी, अब बादशाह जरूर तुम्हे सजा देंगे | चलो हुजूर के पास |
सिपाही उस छोटी लड़की को बादशाह अकबर के पास लेकर आते है |
सिपाही :- हुजूर ! मुजरिम बाहर है |
अकबर :- उसे फ़ौरन अंदर लाओ |
सिपाही :- हुजूर लेकिन वो छोटी बच्ची है |

Akbar Birbal Story in Hindi


अकबर :- क्या छोटी बच्ची ? उसे हमारी नींद ख़राब करने की सही वजह देनी होगी, नहीं तो उसे सख्त सजा दी जाएगी | बच्ची हो या बूढ़ा, जवान हो या लड़का अंदर लाओ उसे |
सिपाही उसे अंदर लेकर आते है |


अकबर :- ऐ लड़की तुम क्यों हमारी नींद ख़राब कर रही हो ? तुम्हे आवाज बंद करने को नहीं कहा गया था और तुम इस वक्त घर जाकर सोती क्यों नहीं ? बताओ हमे जवाब दो |और तुम्हारे पास इतनी रात गए घर से बाहर होने का और हमारी नींद ख़राब करने की एक सही वजह होनी चाहिए |
लड़की :- हुजूर में आपकी नींद ख़राब करने के लिए माफी चाहती हूँ | मुझे कपडे धोने थे आज रात |


अकबर :- कपडे धोने थे, वो भी इतनी रात गए ?
लड़की :- जी हुजूर मेरी माँ तो मायके गयी हुई है, और मेरे पिताजी ने अभी एक बच्चे को जन्म दिया है इसीलिए मुझे सारे कपडे अभी धोने थे |
अकबर :- क्या कहा तुमने, में समझा नहीं ? मेने सुना की तुम्हारी माँ मायके गयी है अच्छा ?
लड़की :- जी हुजूर |
अकबर :- अगर तुम्हारी माँ अपने मायके गयी है तो बच्चे को जन्म किसने दिया
लड़की :- मेरे पिताजी ने | मेने आप से यही कहा की मेरे पिताजी ने एक बच्चे को जन्म दिया है और मुझे उसी के लिए कपडे धोने है |


अकबर :- तुम्हारा दिमाग तो नहीं ख़राब हो गया है | भला एक आदमी बच्चे को कैसे जन्म दे सकता है ?
लड़की :- हुजूर आपके राज्ये में तो कुछ भी हो सकता है | क्या आपने सुना नहीं बैल भी दूध देने लग गए है तो क्या मेरे पिताजी बच्चे क्यों नहीं दे सकते |


अकबर :- ओह अच्छा ! अब में समझा ! ठीक है तुम घर जाकर सो जाओ और मुझे भी सोने दो और बिरबल से कहना की हम समझ गए है – की हमने गलती की है | सिपाहियों ख़याल रहे इसे अपने घर सुरक्षित पंहुचाया जाये और बावर्ची से कहा जाय की बच्ची को सजा के रूप में कुछ मिठाईया दी जाये | हां हां हां |
सिपाही :- जी हुजूर |

Akbar Birbal Story in Hindi
और अगले दिन दरबार लगता है |थोड़ी देर बाद बिरबल का आवगमन होता है |
बिरबल :- हुजूर की जय हो | में देरी के लिए माफ़ी चाहता हूँ हुजूर ! पर में रात को ठीक से सो नहीं पाया कोई बदमाश सारी रात आवाज करता रहा और मुझे सोने नहीं दिया हुजूर |
अकबर :- हां हां हां हां हां


बिरबल :- हुजूर में मजाक नहीं कर रहा हूँ, कल रात बहुत बेकार गुजरी | में जरा भी नहीं सो पाया | जब भी मेरी आँख लगती फिर से आवाज चालू हो जाती थी |
अकबर :- हां हां हां हां हां हां हां हां ! सुखदेव सिंह जी वो बैल के दूध देने की आवाज थी | याद है आपने बिरबल को चुनौत्ती दी थी हम सब जानते है |


फिर अकबर ने पूरी पिछले रात वाली कहानी सबको सुनाई और सारी बात बताई |
अकबर :- अब आप समझे सुखदेव सिंह जी बिरबल को ऐसी चुनौती देकर आपने खुद ही परेशानी मोल ले ली |अब आपको हार मान लेनी चाहिए |

सुखदेव सिंह शर्मिदा हुए और कहा मुझे माफ़ करे हुजूर , माफ़ करे बिरबल जी |

Recent post https://akbarbirbal.net/सोने-का-खेत/

Akbar Birbal Story in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *